जनता को चाहिए न्याय और राजनीतिक पार्टियों को मीडिया अटेंशन,सेल्फी और ट्रैफिक जाम

Home / Job Updates / जनता को चाहिए न्याय और राजनीतिक पार्टियों को मीडिया अटेंशन,सेल्फी और ट्रैफिक जाम

हमारे देवभूमि में कृत्य हुआ “गुड़िया” के साथ वो हमारी देवभूमि के लिए वहुत ही शर्मनाक घटना है बहुत अच्छा है कि हमारी आम जनता सड़को पर उतर रही है ताकि गुड़िया को न्याय मिल सके पर राजनीतिक पार्टिया इतनी संवेदनहीन हो चुकी है कि आये दिनों हर छूट भैया नेता भीड़ के साथ खड़ा होना चाहता है. उनकी सेल्फियों या फ़ोटो को देख के ऐसा लग ही नही रहा मानो इनके दिल मे कोई सम्वेदनाये हो पर चलो वो कहते है ना “जो तन लागे सो मन जाने”.

कुछ बेशर्म चमचे सेल्फी लेते हुए. क्या दिखा रहा इनके चेहरों पे कोई दुःख?
कुछ बेशर्म चमचे सेल्फी लेते हुए. क्या दिख रहा इनके चेहरों पे कोई दुःख?

सत्ताधारी तो अक्ल गिरवी रख ही आए हैं, विपक्ष की भी बुद्धि भ्रष्ट हो गई है। मीडिया अटेंशन के भूखे ये लोग विधानसभा सत्रों से वॉकआउट करके फ़ोटो खिंचवाते हैं और आज एक संवेदनशील मामले पर नौटँकी कर रहे हैं।

Justice for gudia
दांत ऐसे निकाले हैं जैसे किसी शादी समारोह में जा रहे हों. शर्म आनी चाहिए.

कोई बत्तीसी निकालकर विक्ट्री टनल पर ट्रैफिक जाम कर रहा है, कोई डीसी ऑफिस में घुसकर भाषण दे रहा है तो कोई फर्स्ट ईयर के छात्र की तरह चलताऊ नारे लगा रहा है। अगर वही नेता गुड़िया को अपनी बेटी के रूप में कल्पना करे तो यकीनन उनकी रूह कांप जाएगी.

जनता को चाहिए न्याय और राजनीतिक पार्टियों को मीडिया अटेंशन,सेल्फी और ट्रैफिक जाम , हमारे देवभूमि में कृत्य हुआ
देखिये किस प्रकार पार्टीबाज अपनी पार्टी के झंडे लेके पूरी मीडिया अटेंशन बटोर रहे!

कभी दिल्ली की “निर्भया” कभी हिमाचल की “गुड़िया” आखिर कब तक हैवानो का शिकार होती रहेगी 1 महीने तक लोग कैंडल मार्च निकलेंगे फिर सो जाएंगे क्योंकि ये जज्वा जगाने वाले नेता खुद कहीं दूसरी दौड़ में खो जाएंगे पर अब एक अलख जगी है तो परिबर्तन होना चाहिए “गुड़िया” को इंसाफ तब मिलेगा जब कैंडल मार्च या सेल्फियां खिजाने वाले नेता अपनी अपनी पार्टियों पर व्यक्तिगत तौर पर प्रेशर बनाएंगे क्योंकि राज्य में कांग्रेस तो केंद्र में भाजपा बिराजमान है अब समय है बनाओ दवाब और बदलो पुराने कानूनों को जुर्म साबित होने पर फांसी से कम सजा नही होनी चाहिए.

मुझे व्यक्तिगत तौर पर लगता है अपनी पार्टीयो का झंडा ओर बैनर लगा के प्रदर्शन करना या मार्च निकलना हमारी सवेंदनशीलता के स्तर को दर्शाता है. उम्मीद है दोनों पार्टियों के नेता कड़े कानूनों के लिए दवाव बनायेगे और कोई कड़ा कानून आएगा।


सम्बंधित खबरें:

  • कोटखाई जेल में बिटिया के आरोपी का मर्डर गुस्साई भीड़ ने जलाया थाना-फूंकी गाडि़यां

कोटखाई में छात्रा गैंगरेप व मर्डर मिस्ट्री मामले के एक आरोपी सूरज सिंह का कोटखाई पुलिस थाने के लॉकअप में साथी आरोपी राजेंद्र कुमार उर्फ राजू ने मंगलवार आधी रात कथित तौर पर मर्डर कर दिया….Read More!

  • गुड़िया गैंगरेप हत्याकांड: कस्टडी में हुई थी आरोपी की मौत, उसकी पत्नी के सनसनीखेज खुलासे

गुड़िया गैंगरेप हत्याकांड: कस्टडी में हुई थी आरोपी की मौत, उसकी पत्नी के सनसनीखेज खुलासे

“पति ने कहा था, इसलिए चुप थी। सूरज ने कहा था कि 6 महीने में जेल से छूटकर आ जाएंगे, गरीबी मिट जाएगी। ये भी कहा था कि उनके जेल से आने से पहले ही ‘सर लोग’ मुझे नेपाल भिजवा देंगे। उन्हें मार दिया, अब सच बताऊंगी….Read More!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*